शुक्रवार, 24 जून 2011

यमराज का चालान


कृपया पढ़ने के लिए चित्र पर क्लिक करें। चित्र के पूरा आने पर उसे ज़ूम करने के लिए एक बार और क्लिक करें। इस छंद की तृतीय पंक्ति के रूप में विषय देने के लिए भाई नवीन चतुर्वेदी जी जिनका ब्लॉग है http://samasyapoorti.blogspot.com/ का हार्दिक आभार

5 टिप्‍पणियां:

  1. वाह सुशील भाई ....

    ओम प्रकाश 'आदित्य' जी की परम्परा को आगे बढ़ाती हुई आपकी ...छंदबद्ध हास्यव्यंग्य रचना बहुत अच्छी लगी|

    यह भारत की पुलिस है यमराज को भी नहीं बख्शेगी

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये पुलिस वाले भी न..
    यमराज का ही चालान कर डाला..

    उत्तर देंहटाएं